img

Student Life

    संकठा प्रसाद संस्थान गौरा उपरवार चौबेपुर वाराणसी जो कि महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ विश्वविद्यालय से संबद्ध हैं छात्र जीवन बहुत ही संघर्ष शील होता है।छात्र जीवन 5 वर्ष की अवस्था से शुरू होकर युवा वस्था में पूर्ण रूप से सम्पन्न होता है।विद्या को प्राप्त करने वाले जीवन को छात्र जीवन कहते हैं।एक छात्र का जीवन कठिन परिस्थितियों से होकर गुजरता है।

    छात्र लगातार अपने जीवन में शिक्षा को प्राप्त करने के लिए दिन रात मेहनत और लगन के कारण अपने सपनों को साकार करता है।छात्र जीवन में उसको सर्दी गर्मी ,बरसात जैसी कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है।छात्र अपने आपको आत्म संयमित और दृढ़ संकल्पित रखता है और अपने मार्ग में आई हुई परिस्थितियों से नहीं भटकता है। छात्र जीवन में छात्र को सही गलत, वैध अवैध, नैतिक अनैतिक, व्यवहार दुर्व्यवहार के फर्क को अच्छी प्रकार से सिखाया जाता है।एक अच्छे छात्र का पहला गुण अनुशासन होता है।वह अनुशासन में रह कर अपने माता पिता, गुरुजनों के आदेशों का पालन करते हुए एक अनुशासित विद्यार्थी होने का कर्तव्य निभाता है।ये कर्तव्यनिष्ठा ही उसको आगे के मार्ग पर चलने के लिए प्रशस्त करती है।

    एक कर्तव्यनिष्ठ छात्र ही कठिन संघर्ष करके परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त कर अपने संस्थान, गुरुजनों और अपने माता पिता का सिर गर्व से ऊंचा रखता है।ये सभी उपलब्धियां उसको उच्च शिक्षा के लिए प्रेरणा देती हैं।

धन्यवाद
प्रबन्धक
संकठा प्रसाद संस्थान